चित्रकथा  प्रतियोगिता

'सोशल डिस्टन्सिंग' के युग में एकजुटता, करुणा एवं संरक्षण

कोरोना महामारी (कविड-19) हमारी सोच, कार्य पद्दित, जीवन, आपसी संपर्क, सामाजिकता, यात्रा और स्वस्थ्य को प्रभावित कर रही है।


कविड-19 के दौर के बाद हम आपको अपनी आशाओं, अनुमानों और संभावनाओं को लघु कथाओं के माध्यम से प्रस्तुत करने के लिए आमंत्रित करते हैं। हम ऐसे भविष्य की कल्पना ढूंढ रहे हैं जिसमें:

विषय
बर्ताव / आदत
स्वस्थ्य / स्वच्छता
शहरी / ग्रामीण
सार्वजनिक / निजी

डर / सूचना
संचार / सुलभता

उत्पादकता / विकास
पर्यावरण / जीवमंडल
करुणा / हौसला

समर्थक

ओलिव रिडली कॉलेक्टिव द्वारा एक पहल

योग्यता:

प्रतियोगिता भारतीयों के लिए खुली है (व्यक्ति या ग्रुप)। नियम और शर्तें लागू।

 

हिस्सा लेने के लिए:

अपनी कहानी को चित्रकथा के रूप में प्रसूत करें। 1 से 10 पैनल का प्रयोग करें। आप अंग्रेजी या हिंदी भाषा का प्रयोग कर सकते हैं। अपनी कहानी एक JPEG या PDF फाइल के रूप में  भेजें। 


अंतिम तिथि:

मंगलवार 30 जून, 2020, 23:00 IST। विजेताओं की घोषणा हमारी वेबसाइट पर शुक्रवार 8 अगस्त 2020 को की जाएगी।

पुररस्कार:

1st: रु 50,000 2nd: रु 30,000 3rd: रु 20,000
चुने जाने पर प्रतियोगियों को विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित और अनुभवी प्रोफ़ेशनल के साथ तीन (3) विभिन्न कहानियाँ विकसित करने का मौका मिलेगा। विजेता अपनी बातचीत और डिजाइन विकास के आधार पर अपने स्वरूपों को चुनने में स्वतंत्र होंगे। विजेताओं की घोषणा के बाद 50% पुरस्कार दिया जाएगा। विजेताओं की कहानियों का पूरा सेट प्रस्तुत करने के बाद 50% का वितरण किया जाएगा।
 

आप एक ऐसे परिवर्तनशील समाज  में भागीदारी करेंगे जहाँ आप अलग-थलग न पड़ें, और किसी दबाव में न रहें।

ऐसी संभावना पर विचार करेंगे जिसमें हम सबके लिए आज़ादी, बराबरी, गौरव और सहानुभूति का वातावरण बने।

 

ऐसी गहन सोच का विकास किया जाए जिसमें हम एक मनहूस और प्रतिक्रियावादी भविष्य से बच सकें।

 

हम एक ऐसे सुरक्षित, मज़बूत, संवेदनशील विश्व का निर्माण करें जहाँ हमारी स्वस्थ्य और अर्थव्यवस्था की अनिश्चितताओं का सामना सामूहिक ज्ञान और सोच से किया जाए।

कॉपीराइट सुरक्षित